कुल पेज दृश्य

शनिवार, 12 सितंबर 2015

Residential Anti Stammering Therapy (RAST )

                                        You can do live chat on whatsapp No 9200824582
                   Residential Anti Stammering Psycho Therapy (RAST );
 यह सर्वक्षेष्ठ विधि है।  जब आप यहाँ आयेंगे तो सबसे पहले प्राइमरी डायग्नोसिस होगे-आवश्यकता पड़ने पर PPT टेस्ट करवाया जायेगा।
 A-Pre Psycho Therapy  Test ( PPT ) परामर्श शुल्क (विजिटिंग फीस ) 300 रूपये है। यहाँ सबसे पहले आपका PPT होगा। यह हकलाने वालों के लिये बहुत ही सुन्दर टेस्ट माना जाता है  इस टेस्ट से नि मिनलिखित फैक्टर मालूम पड़ते है।
1-Level Of Fear ( LOF )
2-Abnormality Of Face (AOF )
3-Rate Of Speech
4-Rate Of Subsitute Word (ROSW )
5-Condition Of speech organs ( Vocal Chtord )
6-Nature of Blockege (NOB )
7-Anti social betave
8-Heart Bit
9-BP.


10-Power of Eye Contact
इस टेस्ट से ही आपकी हकलाहट का स्टेज तय होता है। सबसे पहले आपको यही टेस्ट सामान्यतः करवाया जाता है। इसका खर्चा 600 से 800 के बीच होता है। इस टेस्ट के बाद ही आगे की प्रोसेस प्रारंभ होगी। बहुत जगह सस्ते का लालच देकर ट्रीटमेन्ट देने का झूठा वादा करते है। इनके च्कर में न फांसिये। सस्ता नही बेहतर इलाज लीजिये क्योकि जिन्दगी में एक ही बार तो लेना है।
 B-Adjuster;- यह प्लास्टर ऑफ पेरिस का बना होता है, इसे दन्त रोग विशेषज्ञ बनाते है,यह आपके जबड़े के दोनों ऒर के दातो के बीच में फिट किया जाता है। इसको फिट करने से आपकी श्वाँस और स्पीड  पर कंट्रोलिंग होती है। किसी दूसरे व्यवित को इसके फिट होने का पता नही चलता। आप सभी कार्य जैसे खाना-पीना-मंजन ब्रश-हँसना -बोलना बिना बाधा के कर सकते है। जब आप बोलने के आदि हो जाते है तब तीन से चार माह बाद इसको निकाल दिया जाता है। इसे आप खुद फिट और निकाल सकते है। इसे डेन्टल सर्जन हमारी देखरेख में डिजाइन करते है तथा डिजाइन और क्वालिटी के अनुसार इसका खर्च लगभग २०००=०० ( दो हजार रूपये ) से 6000 = 00  ( छै ; हजार रूपये ) तक आता है। यह समस्त फीस के अतिरिक्त है यह RAST में लगाया जाता है। जिनकी गहराई कम होती है, उनके लिये यह आवश्यक नही है। जिनकी गहराई 35 % से अधिक होती है उन्हें इसे लगवाना चाहिये। यदि आपकी गहराई 35 % से अधिक है तो आप HAST न करें। यदि आपकी गहराई 35 % से कम है तो या होम क्रोर्स दोनों में से कोई भी कर सकते है।  इस विधि में आपको दस प्रकार से स्पीच कंट्रोलिंग करवाई जाती है। यह सबसे सफल विधि है। इससे दुनिया की तीन अनमोल चीजे लगती है।
1-समय
2-पैसा
3-विश्वास।
 बहुत से लोगों के पास पैसा है तो समय नही-समय है तो पैसा नही है। यदि दोनों है तो विश्वास नही है। यदि आपके पास तीनो है तो आपको इस विधि को ही करना चाहिये।  हकलाहट से मुकत पाने के इस प्रशिक्षण में हमारा मुख्य उददेश्य आपका आत्मविश्वास बढ़ाना-हकलाहट के डर से मुवित दिलाना-ब्लॉकेज कम करना-उच्चारण ठीक करना-सही स्पीड और वाल्यूम करना -चेहरे की कण्डीशन बिगड़ने से रोकना -सामाजिक डर निकलना -आँखो की सही कंडीशन रखना -श्वांस लम्बा करना आदि है। इसीलिए उनका उपचार  हम निम्न प्रकार से करते है -
 C-Speed Controlling ; आपकी बोलने की स्पीच को कन्टोलिग करने के लिये सबसे पहले आपको कांच के सामने बैठकर स्पीच थैरेपी सिखाई जायेगी। इस स्पीच में बोलने से आप ठीक प्रकार से बोलने लगेंगे। आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा तथा दिमाग की साइकोलॉजी कम होने लगेगा तथा एडजेस्टर लगाने से स्पीच कंट्रोल रहती है बहुत से स्पीच थैरेपिस्ट स्पीच इतना धीमा करवाते है की आम जिंदगी में उपयोग करना संभव नही होता है। हमारे यहाँ कंट्रोल करने में अधिक ध्यान दिया जाता है क्योंकि हमारे मन में डर ही है जो बोलने में बाधा उतपन्न करता है।
 D -Gymnastics Controlling  इसमे आपको एरोविक व्यायाम एवं श्वास लेने के विभिन्न तरीकों से अवगत करवाया जायेगा जिससे आपको फेफड़ो के बीच पर्याप्त जगह हो जाएगी और फेफड़ो में श्वास उचित भरने लगेगी। इससे आपको आपकी Respiration  System कमजोर ठीक हो जाती है और आपकी स्पीच ठीक होने में मदद मिलती है।
 E , Psycho Therapy ; आपके दिमाग में जो मजाक उड़ाये जाने का भय कैटेजेलोफोबिया एवं जन समूह में बोलने का भय ग्लासोफोबिया मौजूद है , इसे खत्म करने के लिये जन समूह में बोलना ,टिकिट खिड़की में बात करना ,स्पीच थैरेपी में कहानी सुनाना ,नये एवं  उच्च लोगों से बाते करना ,गाना सबके सामने सुनना यदि करवाया जाता है तथा आपकी सोच को बदलने के लिये कुछ आध्यात्मिक किताबें पढ़ने के लिये दी जाती है तथा चार -पांच साइकोलॉजिकल टेस्ट लिये जाते है ,टेस्टो के माध्यम से आपकी मानसिक सोच का पता लगाया जाता है और आप आज तक जो गलती जीवन के मुख्य मोड़ में करते आये है उन्हें सुधरने की सलाह दी जाती है। इसतरह आप मेंटली रूप से भी ठीक बोलने लगते है। हकलाहट के डर से सामना कैसे करना है शब्दों को बिना डरे कैसे बोलना है।
   F , Vocal Chord Practice ( VCP ) ; आपके गले एवं माउथ में जो पार्ट बाइब्रेट करते है , उनके सही मोशन के लिये VCP एक्सरसाईज करवाई जाती है।
  G , Personal  Controlling ; प्रत्येक व्यवित की कुछ अलग -अलग समस्याए या आदतें होती है।  इनसे छुटकारा पाने के लिये प्रत्येक व्यवित को पर्सनल तौर से गाइड किया जाता है।  इस विधि में आपको कोई दवाई नही दी जायेगी। दिमाग से प्रेविट्स द्धारा साइकोलॉजी निकाली जाती है।  प्रतिदिन सेन्टर में हमारा लैक्चर होता है की हकलाहट को समझने की।  है जिसमें आपको प्रेविटकल रूप से समझया जाता है कि वास्तव में हकलाना क्या है तथा इसका इलाज क्या है ?यहीं लेक्चर यहाँ की अच्छी सफलता का रहस्य है क्योकि हकलाने वाले को इस बात की जानकारी नही होती है कि वह किस कमी से हकलाता है। इस लेक्चर से अपनी कमी का अहसास होने के बाद आप स्वयं को ही महसूस होगा की अब तो मैं खुद ही आपको ठीक कर लूगा। इसप्रकार आप में अपनी सफलता का पूरा आत्मविश्वास आ जाता है।  
                                आदतों को अपना गुलाम बनाओं ,आदतों का स्वयं गुलाम न बनो।
H , Medicine बहुत से पेशेन्ट बहुत जगह स्पीच थैरेपी लेकर निराश हो जाते है , कोई फायदा नही होता है ऐसे पेशेन्ट को ई.एन  . टी  . विशेषज्ञ एवं मानसिक रोग विशेषज्ञ से चेकअप करवाया जाता है और इनके द्धारा दी गई दवाइयों के उपयोग के साथ -साथ RAST करवाई जाती है ,दवाइयाँ ऑगेनिक फैक्टर को ठीक करती है जबकि RAST साइकोलॉजिकल फैक्टर को कन्ट्रोल करती है इसप्रकार स्टेमरिग से पूर्णतः मुवित दिलाई जाती है। बहुत से स्पीच थैरेपिस्ट केवल ट्रेनिंग से हकलाहट को ठीक करते है , यह संभव नही है इसका खर्च 500 रूपये से 1000 तक होगा।
i , Microphonic computer Practice ( MCP ) ; आपके दिमाग में हकलाहट के डर को निकालने के लिये एम ,सी ,पी , करवाई जाती है।  इसमें आपकी आवाज कम्प्यूटर में रिकार्ड करवाई जाती है और आपको स्वंय सुनवाई जाती है। आप आपनी आवाज सुनकर स्वयं अनुभव करते है कि हमारी स्पीच धीरे -धीरे सुधर रही है।  वीडियो रिकार्डिग भी होती है।
 J , Hypnotism ; Hypnotism से तातपर्य सम्मोहन से है।  आपको मन में जो अपने आत्मविश्वास के प्रति हीन भावना बैठी है , उसे self -Hypnotism के द्धारा ठीक करवाई जाती है।  इसमें व्यवित को किसी समस्या का सामना किस नजरिये से करना है। ब्रेन से कौन सा निर्णय लेना है आदि सिखाया जाता है।  सर सुनने में आया है कि आपके यहाँ नई टेविनक use होती है जो सब जगह नही होती है।
  k . Acceptance Techniqe ;बहुत सारी सामाजिक बेवसाइट और विश्ववियालयों के क्वालिफिई व्यवितयो के विचारों को पढ़ने के बाद मैंने पाया कि हकलाने वाले व्यवित अपनी सारी ऊर्जा को हकलाहट को खुपाने में खर्च करते है। एक -एक अक्षर संघर्ष का होता है। अब सवाल संघर्ष किस बात का है ?शायद मात्र हकलाहट को छुपाने का। दोस्तों में आपने पूछता हूँ कि आप 10 -20 -30  वर्ष से ठीक बोलने का प्रयास करते है और रिजल्ट हकलाना होता है। बार- बार कई वर्षों से कर रहे है  , रिजल्ट में कोई अंतर नही है तो आपको कुछ अपने वर्क में बदलाव करना पडेगा अर्थात आपको स्वीकार्य करना पड़ेगा कि हाँ मैं हकलाता हूँ। यदि आप स्वीकार्य कर लेते है तो निम्लिखित फायदा आपको होगा -
1 . वास्तव में हकलाहट को स्वीकार करना यानि यह कहना कि '' हाँ मै हकलाता हूँ यह आसमान से तारे तोडना या दूसरी बार जन्म लेने जैसे कठिन है पर इसे नियमित प्रशिक्षण से स्वीकार्य करना बहुत आसान होता है। कभी आपने सोचा है कि अकेले में , अँधेरे में , पशु -पक्षियों के सामने आप ठीक क्यो बोलते है क्योकि आपको उनके सामने यह कहने में जरा भी संकोच नही होता कि ''हाँ मै हकलाता हूँ'' . आप जरा भी नही छुपाते है और आपकी सारी ऊर्जा बोलने और सोचने में खर्च होती है और आप सही बोलते है।  हमें अपने माता -पिता ,भाई -बहन से कहने में संकोच होता है कि मै हकलाता हूँ ,लगता है मेरी जान चली जायेगी। मेरी बहुत बड़ी बदनामी होगी ,यदि इन्हे पता ,चल जायेगा तो मै भर के लिये बदनाम हो जाऊगा। मित्र अपने दिल में हाथ रखकर बताइये कि क्या आप कभी हकलाहट को छुपाने में 100 % सफल हुये हैं ,नही।  यदि प्रथम या दियतीय चरण से आप गुजरते है तब हद तक छुपाने में सफल हो सकते है लेकिन अपने आपसे कभी नही छुपा पाये है और आप अपनी ऊर्जा को छुपाने में खर्च करते रहते है और हकलाहट बढ़ाते रहते है।  यदि आप स्वीकार कर लेते है तो ; - यदि आप हकलाहट को स्वीकार्य कर लेते है तो इसमें नियंत्रण पाना काफी आसान हो जाता है। वास्तव में हकलाना कोई जुर्म ,पाप बदनामी नही है। यह एक व्यवहार हैं जैसे आप काले है हो काला होना कोई जुर्म नही है। आप सभी कार्य कर सकते है। स्वीकार्य करने के बाद आपकी सारी ऊर्जा स्पीच ऑर्गन को मेन्टेन करने ,सोचने और स्पीच को मेन्टेन करने में खर्च होगी और आप तुरन्त हकलाहट पर नियंत्रण कर लेंगे।
L . Bouncing Technique ;  हकलाहट के हार्ड ब्लोकेज को सॉफ्ट बनाने के लिये यह टेविनक बहुत ही फेमस है इसमें शब्दों और अक्षरों को दोहराव के साथ बोला जाते है। उपचार का समय ,खर्चा व वारंटी ;
1 , RASP - इस विधि का पूरा कोर्स लगभग 30 दिन का होगा हैं। आपकी गहराई चाहे कम है लेकिन जल्दी बोलने की आदत तो 10 - 15 वर्ष पुरानी है ना। 100 प्रतिशत सफलता के लिये हमारी आप से 30 दिन का कोर्स करने की सलाह है। यदि आपको पास 30 दिन का समय है नही तो आप यहाँ से 10 दिन या 5 दिन का कोर्स कर सकते है। 10 या 5 दिन का कोर्स करके घर जाकर नियमित अभ्यास करके पूरी तरह ठीक हो सकते है। 2 वारंटी। पूरा 30 दिन का कोर्स करने पर आपको हम वारंटी देते है कि आपके दिमाग से हकलाहट का डर निकल जायेगा। अपनी संतुष्टि के लिये आप सेन्टर आकर और जानकारी प्रप्त कर सकते है या टेलिफोन पर बात कर सकते है यहाँ से पूरा कोर्स करने पर आप कैसा भी इन्टरव्यू टेलीफोन ,टिकिट खिड़की ,समाज पार्टी ,दोस्त मंडली में बोल सकते है। आपको सम्पूर्ण सफलता दिलाना ही हमारा उददेश्य है।
                                   
                                                       इस कोर्स की फीस
टोटल फीस 2000-15000 (आप की प्रॉब्लम के अनुसार ) है  चाहे  आप को  जितने दिन लगे ठीक होने में ,जब तक आप पूरी तरह संतुष्ट नहीं होते है तब तक छूटी नहीं दी जाएगी सामान्यतः 5 से 30 दिन का टाइम लग सकता है  यहाँ से पूरा कोर्स करने के बाद जीवन में कभी भी आपको अपने अंदर कमी दिखाई देती है तो दुबारा Refresh   Anti Stammering Speech Therapy बिल्कुंल फ्री दी जायेगी। RASP करने के लिये दुनिया की सबसे अनमोल चीजे लगती है ( 1 ) समय ( 2 ) पैसे ( 3 ) विश्वास , जिनके  पास समय है तो पैसा नही है ,जिनके पास पैसा है तो समय नही है ,जिनके पास दोनों है तो विश्वास नही है। मै पूछता हूँ कि कोई बहुत विजी व्यवित (नौकरीपेशा या विजनेसमैंने आदि ) है ,यदि उसका पैर टूट जाये तो समय निकलेगा या नही ,शायद निकालेगा है। हकलाहट तो पूरी जिन्दगी ही तोड़ देती है। आपके पास पैर टूटने के बाद भी समय नही है तो मै समझूँगा कि वाया रजिस्टर्ड पार्सल कई आपके पास समय नही है। अधिक खतरनाक क्या है -पैर टूटना या जिन्दगी टूटना ? जबाब आप स्वयं दीजिये और निर्णय भी आप स्वयं कीजिये।                                                                                              
हम आपकी तकदीर तो नही बदल सकते लेकिन तकदीर बदलने की तरकीब अवश्य बटला सकते है    
=====================================================================
To know more clike here
1- Registration form  click here    
2-Basic Anti Stammering Psycho therapy (BASP ) click here   
3 -Online Anti Stammering Psycho ( OASP )  click here
4-Refresh Anti Stammering Psycho Therapy   click here
5-Short Anti Stammering Psycho Therapy    clike here     
 6-  Home Anti Speech  Therapty click                              

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें